नई दिल्ली। असम की रहने वाली हिमा दास ने फिनलैंड में हुई IAAF वर्ल्ड अंडर 20 चैंपियनशिप में 400 मीटर के रेस में गोल्ड मेडल जीतने वाली हिमा दास ने देश का सिर गर्व से ऊंचा कर लिया। असम के छोटे से गांव में रहने वाली हिमा खेतों में अपने पिता का हाथ बंटाती थी, लेकिन अब वो देश का नाम रौशन कर रही है। आज से पहले वो एक साधारण लड़की थी, जिसे शायद ही कोई जानता हो, लेकिन उन्होंने अपनी मेहनत और लगन से अब वो नाम अर्जित कर लिया है, जिसे शायद की कोई नहीं जानता हो।

हिमा ने विश्व चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल जीतकर न केवल देश का सिर गौरव से ऊंचा कर दिया बल्कि वो पहली भारतीय महिला धावक बनीं जिन्होंने किसी भी वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड जीता है। हिमा की सफलता देस के लिए गर्व की बात है। गोल्ड मेडल जीतने के बाद उनकी सफलता सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल गई। लोग हिमा की सफलता पर खुश होने लगे। उनके बारे में जानने के लिए लोग गूगल पर सर्च करने लगे । इस सर्च में ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है जो गूगल पर हिमा दास की जाति तलाश रहे हैं। हिमा के जीतने के बाद गूगल सर्च में उन्हें और खासकर उनकी जाति को लेकर काफी उछाल आया। गूगल ट्रेंड में सबसे ज्यादा बार लोगों ने हिमा दास की जाति सर्च की। आपको जानकर हैरानी होगी की हिमा की जाति सर्च करने वाले लोगों में सबसे ज्यादा लोग उनके ही राज्य असम के थे, जबकि दूसरे नंबर पर पड़ोसी राज्य अरुणाचल प्रदेश के लोग हैं।

अगर आप अभी गूगल पर हिमा लिखते हैं तो आपको सबसे ऊपर हिमा दास की जाति सर्च ऑप्शन में मिलता है। हालांकि ये कोई पहला मौका नहीं है जब लोगों ने खिलाड़ियों की जाति के बारे में जानने की कोशिश की हो। इससे पहले जब रियो ओलंपिक में पीवी सिंधु से देश के लिए सिल्वर मेडल जीता था तो लोगों ने उनकी भी जाति खोजनी शुरू कर दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.