जानें कौन हैं IAS परमेश्वरन अय्यर जिनके लिए PM ने कहा-जरा कैमरा उनपर फोकस करो

    351

    पटना। प्रधानमंत्री महात्मा गांधी के चंपारण सत्याग्रह के शताब्दी मौके पर बिहार पहुंचे। ‘सत्याग्रह से स्वच्छाग्रह’ कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने मीडिया के कैमरे को एक शख्स पर फोकस करने को कहा। पीएम ने कहा कि वो अधिकारी जो भारत को स्वच्छ बनाने के लिए मेरे एक बुलावे पर अमेरिका में अपनी आराम की जिंदगी को छोड़कर स्वदे्श लौट गया, वो यहीं-कहीं कोने में बैठा हंस रहा होगा। पीएम ने कैमरामैन की ओर इशारा करते हुए कहा कि जरा अपना कैमरा उनकी ओर फोकस करो। इस बात तो सुनते ही भीड़ में बैठा एक शख्स उठ खड़ा हुआ और हाथ जोड़कर पीएम का अभिनंदन किया। उसके उठते ही वहां मौजूद लोगों ने तालियों की गड़गडाहट के साथ उनका स्वागत किया। अब आपको बताते हैं कि आखिर वो शख्स हैं कौन जिसकी पीएम मोदी ने की इतनी तारिफ….

    कौन हैं परमेश्वरन अय्यर ?

    परमेश्वरन अय्यर 1981 बैच के यूपी कार्डर के आईएएस रह चुके हैं। मूलरूप से वो तमिलनाडु के रहने वाले परमेश्वनर ने 8 साल नौकरी करने के बाद साल 2009 में स्वेच्छा से रिटायरमेंट ले ली। इसके बाद वो अमेरिका चले गए। पीएम मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान के लिए जब उन्हें बुलाया तो वापस लौटे और देश को खुले में शौच मुक्त बनाने के लिए इस अभियान से जुट गए।

    परमेश्वरन ने वर्ल्डबैंक के साथ जुड़कर वर्ल्ड फ़ूड प्रोग्राम के लिए काम किया। स्वच्छता कार्यक्रमों की वजह से वो अक्सर विदेशों में रहते थे,जिसकी वजह से उन्हें भारत सरकार ने नोटिस तक जारी किया था। बाद में साल 2009 में उन्होंने नौकरी से रिटायरमेंट ले लिया। मोदी ने उन्हें स्वच्छता अभियान के तहत शौच मुक्त भारत बनाने की अहम जिम्मेदारी सौंपी हैं। परमेश्वरन सफाई कर्मियों से घृणा नहीं करते। कई बार वो खुद भी शौचालय साफ करने के लिए तैयार हो जाते हैं ।