भारत ने अमेरिका से आयात होने वाले 17 उत्पादों पर आयात शुल्क बढ़ाने का फैसला किया है। सबसे ज्यादा मटर और बंगाली चने पर 60% तक आयात शुल्क बढ़ाया गया है। एक तरह की झींगा मछली आर्टेमिया पर 15% शुल्क तय किया गया है। भारत ने यह कदम ट्रम्प प्रशासन के ट्रेड वॉर के जवाब में उठाया है। वित्त मंत्रालय की अधिसूचना के मुताबिक, बढ़ा हुआ उत्पाद शुल्क चार अगस्त से लागू होगा।

ट्रम्प कई देशों से आने वाले सामान पर इम्पोर्ट ड्यूटी बढ़ा रहे हैं। इसी के तहत अमेरिका ने भारत से आने वाले स्टील पर 25% और एल्युमीनियम पर 10% आयात शुल्क 9 मार्च को बढ़ा दिया था। इस वजह से भारत पर 24 करोड़ डॉलर यानी करीब 1,650 करोड़ रुपए सालाना का अतिरिक्त बोझ पड़ा है। भारत हर साल 10 हजार करोड़ रुपए का स्टील और एल्युमीनियम उत्पाद अमेरिका में निर्यात करता है। ट्रम्प के ट्रेड वॉर के जवाब में भारत ने पिछले हफ्ते डब्ल्यूटीओ में 30 ऐसे आइटम्स की लिस्ट सौंपी थी जिन पर 50% तक आयात शुल्क बढ़ाया जा सकता है।

इनके अलावा, चुनिंदा किस्म के नट-बोल्ट, लोहा और इस्पात उत्पादों, सेब, नाशपाती, स्टेनलेस स्टील के चपटे उत्पाद, मिश्रधातु इस्पात, ट्यूब-पाइप फिटिंग, स्क्रू और रिवेट पर आयात शुल्क बढ़ाया गया है। हालांकि, यूएस से आयात होने वाली 800 सीसी की मोटरसाइकिलों पर शुल्क नहीं बढ़ाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.