नई दिल्ली : विदेशी कंपनी आईटी अलायंस ऑस्ट्रेलिया (आईटीएए) ने फॉरेन डॉयरेक्ट इनवेस्टमेंट (एफडीआई) और सीएसआर के तहत भारत में अगले सात वर्षों में 120 मीलियन ऑस्ट्रेलियन डॉलर का निवेश करने जा रही है. नई दिल्ली के एक पांच सितारा होटल में आयोजित कंपनी की दूसरी वर्षगांठ में सीईओ रतेश गुम्बर और सीओओ प्रवीण कुमार ने इसकी घोषणा की. इस कार्यक्रम को सांसद राम शंकर कठेरिया, सांसद परवेश साहिब सिंह वर्मा, करुणा सागर, विधायक मजिंद्र सिंह सिरहसा सहित कई अन्य लोगों ने संबोधित किया.
आईटी अलायंस ऑस्ट्रेलिया की सलाहकार और नियोक्ता कंपनी है, जो बड़े पैमाने पर भारत, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजिलैंड में प्राइवेट और सरकारी संस्थानों को आईटी प्रोफेशनल के साथ-साथ कंसल्टेंसी और सलाह दे रही है. इसके अलावा दुनिया भर के 500 कंपनियों की रणनीतिक साझेदार के तौर पर काम करती है.
आईटी अलायंस ऑस्ट्रेलिया, इंडिया, न्यूजिलैंड और यूएसए के बाद अब 2022 तक अपना कारोबार सिंगापुर और जापान और 2024 तक यूरोप में फैलाने का लक्ष्य लेकर काम कर रही है. कंपनी का कहना है कि अन्य देशों में बिजनेस के विस्तार में भी भारत की अहम भूमिका रहेगी.
कंपनी ने अगले सात वर्षों में एफडीआई के माध्यम से भारत में 600 करोड़ रुपए का निवेश करने का लक्ष्य रखा है. इसके तहत 2019 से 2021 तक भारत के शैक्षणिक संस्थानों से बड़े पैमाने पर कैंपस करने के साथ-साथ अन्य क्षेत्रों में भी रोजगार देने का काम करेगी.
इसके अलावा आईटी अलायंस भारत सरकार और ऑस्ट्रेलियन गवर्नमेंट के सौहार्दपूर्ण व्यापारिक संबंध के तहत दोनों अर्थव्यवस्थाओं के साथ परस्पर काम लगातार जारी रखेगी. आईटीएए सीएसआर के तहत काम करने के लिए कंपनी भारत के कई एनजीओ के साथ काम कर रही है. दूसरे वर्षगांठ के अवसर पर इस गतिविधि को बढ़ाने और मजबूत करने पर बल दिया गया, जिससे कि जरूरतमंद लोगों तक मदद पहुंच सके और उनका जीवनस्तर सुधर सके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.