लोकसभा चुनाव से  पहले  एक बार फिर से राम मंदिर का मुद्दा  गरमाने लगा है।  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन  भागवत ने राम मंदिर का  जिक्र  करते  हुए कहा कि राम मंदिर  बनने से हिंदू-मुस्लिम  के बीच तनाव खत्म हो जाएगा। ‘भविष्य के भारत’ कार्यक्रम में मोहन भागवत ने कहा कि अयोध्या में राम मन्दिर का शीघ्र निर्माण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इससे हिंदुओं एवं मुस्लिमों के बीच तनाव खत्म हो जाएगा। उन्होंने भगवान राम को  इमाम ए हिंद बताया और कहा कि भगवान राम देश के कुछ लोगों के लिए भगवान नहीं हो सकते लेकिन वह समाज के सभी वर्ग के लोगों के लिए भारतीय मूल्यों के एक आदर्श हैं।

उन्होंने कहा कि मैं  एक संघ कार्यकर्ता, संघ प्रमुख और राम जन्मभूमि आंदोलन के एक हिस्से के तौर पर चाहता हूं कि भगवान राम की जन्मभूमि में जल्द से जल्द भव्य राम मंदिर बनाया जाए। भागवत ने कहा कि अब तक मंदिर बन जाना चाहिए था, जिससे हिंदू-मुस्लिम के बीच तनाव खत्म होगी। अगर मंदिर शांतिपूर्ण तरीके से बनता है तो मुस्लिमों की तरफ उंगुलियां उठनी बंद हो जाएंगी। उन्होंने कहा कि अयोध्या मुद्दे को बातचीत से हल करना चाहिए।

संघ प्रमुख ने कहा कि उन्हें यह नहीं मालूम कि राम मंदिर के लिए अध्यादेश जारी किया जा सकता है क्या, क्योंकि वह सरकार के अंग नहीं हैं। उन्होंने  विभिन्न समुदायों के लिए आरक्षण की वर्तमान व्यवस्था का पुरजोर समर्थन किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.