मुजफ्फरपुर। भले ही सरकार अपराध पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस अधिकारियों का तबादला करे लेकिन इसका तनिक भी असर अपराधियों के मनोबल पर पड़ता नहीं दिख रहा है।एसएसपी बदलने के बाद भी मुजफ्फरपुर में अपराध रूकवे का नाम नहीं ले रहा है। दरअसल अंडा और हार्डवेयर कारोबारी जयप्रकाश को दो दिन पहले अगवा किया गया था. उसके बाद उसके परिजनों से डेढ़ करोड़ रुपये की फिरौती मांगी गई । परिजन पैसा देने की तैयारी में थे लेकिन इसी बीच अपराधियों ने उसकी हत्या कर शव को फेंक दिया।

जयप्रकाश कानअपहरण करजा थाना इलाके से किया गया था. जबकि, उसका शव जैतपुर ओपी के पोखरैरा में मिला है. ऐसा नहीं कि परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को नहीं दी।परिजनों ने अपहरण की आशंका जताते हुए थाने में आवेदन दिया था. जिसमें डेढ़ करोड़ रुपये फिरौती मांगने की बात कही गयी थी. शिकायत मिलने के बाद डीएसपी के नेतृत्व में टीम गठित की गयी थी ।पुलिस इंधेरे में तीर चलाते रही और अपहर्ताओं ने कारोबारी की हत्या कर शव को फेंक दिया ।

परिजनों के अनुसार सोमवार को जयप्रकाश का फोन उनलोगों के पास आया था. फोन कर उन्होंने चेक बुक और मुहर भेजने को कहा था. परिजन चेक बुक लेकर भी गये थे. इसके बाद चार चेकों में डेढ़ करोड़ की राशि भर कर बैंक में जमा की गयी थी लेकिन, बैंक में राशि नहीं रहने से चेक क्लियर नहीं हो सका था. इधर, सोमवार की शाम से ही कारोबारी का मोबाइल स्विच ऑफ हो गया था.

घटना के बाद से व्यवसायियों नें दहशत का माहौल है।. हाल के दिनों में जिले में ये दूसरी बड़ी घटना है. इससे पहले पूर्व मेयर समीर कुमार की भी अपराधियों ने एके-47 से गोली मारकर हत्या कर दी थी. वहीं, पुलिस के आलाधिकारियों का कहना है कि इस घटना के संबंध में सभी पहलुओं पर जांच की जा रही है. विदित हो कि हाल ही में वहां तैनात एसएसपी हरप्रीत कौर का तबादला पूर्व मेयर समीर कुमार की हत्या के बाद कर दिया गया और मनोज कुमार को नया एसएसपी बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.