नई दिल्ली। कथित रूप से गोकशी की आशंका के बाद बुलंदशहर में भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की मौत हो गई। इस हिंसा में लोगों को उकसाने का काम बजरंग दल के नेता योगेश राज ने किया। पुलिस ने हिंसा फैलाने वाले साजिशकर्ताओं की धरपकड़ शुरू कर दी, जिसमें छापेमारी के बाद पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया और 75 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया। इस हिंसा में पुलिस ने मुख्य साजिशकर्ता के नाम का खुलासा किया है।

पुलिस के मुताबिक बजरंग दल से जुड़े योगेश राज ने वहां लोगों को उकसाकर हिंसा भड़काई और तोड़फोड़ की। पुलिस ने हिंसा भड़काने के आरोप में योगेश राज को गिरफ्तार कर लिया है। एफआईआर के मुताबिक, योगेश राज अपने साथियों के साथ मिलकर भीड़ को भड़का रहा था। उसके उकसाने पर हथियारों से लैस भीड़ ने थाने में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की लाइसेंसी पिस्टल, मोबाइल फोन छीनकर उन्हें गोली मार दी।

क्यों भड़की हिंसा

सोमवार को बुलंदशहर के स्याना थाना क्षेत्र के एक खेत में गोकशी की आशंका के बाद विवाद शुरू हुआ। मामला पुलिस के बाद पहुंचा। जिसके बाद सुबोध कुमार पुलिसबल के साथ मौके पर पहुंचे। जब एफआईआर दर्ज की जा रही थी, इतने में ही तीन गांव से करीब 400 लोगों की भीड़ ट्रैक्टर-ट्राली में कथित गोवंश के अवशेष भरकर चिंगरावठी पुलिस चौकी के पास पहुंच गए और वहां तोड़फोड़ मचाने लगे। पुलिस ने काबू पाने के लिए लाठीचार्ज और आंसू गैस के गोले छोड़े। उपद्रवियों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें सुबोध कुमार घायल हो गए। दंगाईयों ने उन्हें अस्पताल ले जाने से रोका और उनकी कार पर जमकर पथराव किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.