अलवर के बाद अब ग्वालियर से खबर फांसी की,महज तेरह दिन में आया फैसला,मामला बच्ची से दुष्कर्म और हत्या का

0
88

छह साल की बच्ची से बलात्कार के बाद कर दी गयी थी हत्या

ग्वालियर में 6 साल की मासूम से बलात्कार और उसके बाद हत्या के मामले में कोर्ट ने आरोपी जितेंद्र कुशवाहा को फांसी की सजा सुनाई है। महज 13 दिन के ट्रॉयल में कोर्ट का अहम फैसला आया है। मामले में 33 लोगों की गवाही के बाद कोर्ट ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए फैसला सुनाया है। बीते 21 जून को ग्वालियर के कैंसर पहाड़ी पर एक पारिवारिक आयोजन के दौरान यह घटना घटी थी जिसमे आरोपी जितेंद्र कुशवाहा ने शादी समारोह में शामिल होने आयी छह साल की मासूम बच्ची को अगवा कर दुष्कर्म के बाद निर्मम हत्या कर दी थी।
जिस समय यह विभत्स घटना घटी थी लोगों में काफी आक्रोश था और लोग इस मामले में कड़ी से कड़ी सजा की मांग कर रहे थे। शादी की रात लोग मेहमानो की आव-भगत में लगे थे तभी जितेंद्र की बुरी नजर छोटी बच्ची पर पड़ी और बच्ची को बहला-फुसला कर अगवा कर नजदीक ही एक पहाड़ी पर ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया।इसके बाद राज खोल दिए जाने के डर से जितेंद्र ने बच्ची की हत्या कर डाली। लोगों ने जब उग्र रूप दिखाया और दोषी जितेंद्र के घर हमला किया तो पुलिस किसी तरह जितेंद्र को भीड़ से बचा कर थाने ले गयी। इसकर बाद मामला दर्ज़ करने के बाद उसे जेल भेज दिया गया। इलाके में ऐसी दरिंदगी की घटना लोगों ने पहली बार देखा और सुना।
जितेंद्र बच्ची को कैंसर पहाड़ी में ले गया और उसने दरिंदगी का खेल खेलना शुरू कर दिया। मासूम बच्ची ने विरोध किया तो उसे उसने जमीन पर पटक दिया।मुंह,नाक और गला दबाकर बच्ची की हत्या कर दी थी। बच्ची के गले की मोतियों की माला टूटकर वहीं बिखर गई। जितेंद्र का इससे भी जी नहीं भरा। उसने बच्ची के चेहरे पर पत्थर से कई वार किए।इसके बात बच्ची की मौत हो गयी थी।
अब जाकर जब इस मामले में ग्वालियर कोर्ट का त्वरित फैसला आया है तो लोगों को लगा है कि इस तरह की सजा और कारवाई से ऐसी घटनाओं पर रोक लगेगी। ऐसी मंशा वाले दुष्प्रवृति वाले भी कुछ हद तक कोई ऐसा गलत काम करने से डरेंगे। ज्ञात हो कि कुछ दिनों पहले अलवर कोर्ट ने भी एक अहम् फैसला सुनाते हुए एक आरोपी को फांसी की सजा सुनाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.