इस 64 साल के शख्स ने ले ली 58 बेगुनाह लोगों की जान

62

लास वेगस।  सोमवार को लास वेगास के एक म्यूजिक फेस्टिवल में जो हुआ उसे अमेरिका के इतिहास में काला अध्याय कहा जा रहा है। संगीत के धुन पर झूम रहे बेगुनाहों को बेरहमी से मार डाला गया। जहां संगीत की धुन फैली थी वहां लाशों की ढे़र बिछ गई। लास बेगास में हुए फायरिंग में 58 लोगों की जान चली गई  जबकि 400 से ज्यादा लोग घायल हो गए।  64 साल के स्टीफन पैडॉक ने अपने पागलपन में 58 लोगों को मौत के घाट उतार दिया और फिर खुद को गोली मार ली। पैडॉक और उनकी महिला सहयोगी ने ने कसिनो के पास के एक होटल के 32वें मंजिल से ताबड़तोड़ फायरिंग कर लोगों को मार डाला। स्टीफन नेवादा का रहने वाला था। वोअपने गांव मेसक्विट में रह रहा था।उसने इस घटना को अकेले ही अंजाम दिया। उनसे ऐसा क्इयों किया, कतिसके क हने पर किया ये अबू तक पता नहीं चल सका है। वहीं इस्लामिक संगठन का कहना है कि लास वेगस हमले को अंजाम देने वाला इस्लामिक स्टेट का एक सिपाही है और उसने जेहादियों के खिलाफ सैन्य कार्रवाई में शामिल देशों से बदला लेने के लिए इस कार्रवाई को अंजाम दिया गया है।लेकिन एफबीआई ने इस दावे को गलत ठहराया है।